डॉ राजेन्द्र प्रसाद

डॉ राजेन्द्र प्रसाद


 

डॉ राजेन्द्र प्रसाद


डॉ राजेन्द्र प्रसाद

भारतीय राजनेता, वकील व पत्रकार होने के साथ ही भारतीय गणराज्य के प्रथम राष्ट्रपति।
उपनाम : राजेन्द्र बाबू, देशरत्न।
जन्म : 3 दिसंबर 1884,जीरादेई (बिहार)
निधन : 28 फरवरी 1963, पटना (बिहार)
राष्ट्रपति पद पर कार्यकाल : 1950 – 1962
भारत रत्न से सम्मानित : वर्ष 1962

शिक्षा

• एम.ए – अर्थशास्त्र
• वकालत- 1909, रिपन कॉलेज, (वर्तमान में सुरेंद्रनाथ लॉ कॉलेज), कलकत्ता
• 1915 – विधि विभाग से परास्नातक (स्वर्ण पदक)
• 1916- बिहार और ओडिशा के उच्च न्यायालय में शामिल होने के साथ ही 1917- पटना विश्वविद्यालय के सीनेट और सिंडिकेट के पहले सदस्य के रूप में नियुक्त।
• 1937 – इलाहाबाद विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट

साहित्यिक रचनाएं

• बापू के क़दमों में बाबू ।
• भारतीय संस्कृति व खादी का अर्थशास्त्र।
• गाँधी जी की देन ।
• इंडिया डिवाइडेड ।
स्वतंत्रता संग्राम में भूमिका:
• नमक सत्याग्रह आंदोलन,1931
• भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, बम्बई अधिवेशन (1934) के अध्यक्ष।
• सुभाषचन्द्र बोस के त्यागपत्र देने के पश्चात पुनः 1939 में कांग्रेस अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया।
• भारत छोड़ो आंदोलन,1942
• 11 दिसंबर 1946 – बतौर संविधान सभा

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने